पीएचएल इंटर्नशिप  -  योजना  (यहां क्लिक करे),  आवेदन  (यहां क्लिक करे)    |   पीएचटीआई मुंबई में बैचलर ऑफ एरोनॉटिक्स एंड एयरक्राफ्ट मेंटेनेंस इंजीनियरिंग के लिए एडमिशन ओपन   |   चंडीगढ़-शिमला-चंडीगढ़ उड़ानों के लिए संपर्क नं, शिमला के लिए: डॉ विपुल वैद्य - 7018030880, श्री शिवम गुप्ता - 8368557785, चंडीगढ़ के लिए: सुश्री मोहिता शर्मा - 8283091219, सुश्री आलिया हैदर - 7827509985.   |   पोस्ट धारकों के लिए 25/02/19 को वॉक-इन-इंटरव्यू को स्थगित प्रशिक्षक / सीनियर प्रशिक्षक अंग्रेजी संचार और प्रशिक्षक को अगली सूचना तक रोककर रखा जा सकता है।   |   कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी (सीएसआर) और सतत विकास (एसडी) के तहत प्रस्तावों का निमंत्रण   |   पारदर्शिता लेखापरीक्षा के लिए एक ढांचा     |   स्वच्छता शपथ

मुख्य पृष्ठ >> समाचार एवं मीडिया >> दिल्ली में कृत्रिम बारिश को तैयार पवन हंस, मिलेगी धुंध से राहत!

स्रोत: आज तक

  11/11/2017

सूत्रों के मुताबिक केजरीवाल सरकार के प्रस्ताव पर हेलिकॉप्टर सर्विस मुहैया कराने वाली कंपनी पवनहंस ने सहमित दे दी है. इस संबंध में दिल्ली सरकार और पवन हंस के प्रतिनिधि के बीच शनिवार को मुलाकात हो सकती है.

राजधानी दिल्ली को पिछले कई दिनों से स्मॉग यानी धुंध और धुएं से राहत नहीं मिल रही है. स्मॉग से दिल्ली को बचाने के लिए राज्य के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल हर संभव कोशिश कर रहे हैं. प्रदूषण कम करने के लिए दिल्ली सरकार एक तरफ जहां 13 नवंबर से ऑड-इवन फॉर्मूला लागू करने जा रही है वहीं दूसरी तरफ हेलिकॉप्टर से छिड़काव कराने पर भी विचार कर रही है.

दिल्ली में प्रदूषण और धुंध से निजात पाने के लिए हेलिकॉप्टर से कृत्रिम बारिश की जा सकती है. सूत्रों के मुताबिक केजरीवाल सरकार के प्रस्ताव पर हेलिकॉप्टर सर्विस मुहैया कराने वाली कंपनी पवनहंस ने सहमित दे दी है. इस संबंध में दिल्ली सरकार और पवन हंस के प्रतिनिधि के बीच शनिवार को मुलाकात हो सकती है.

बताया जा रहा है कि केजरीवाल सरकार को कृत्रिम छिड़काव के लिए हेलिकॉप्टर मुहैया कराने में केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय द्वारा असमर्थता जताने के बाद दिल्ली सरकार ने अपने स्तर पर पवन हंस से संपर्क कियाथा. कंपनी की ओर से सरकार को शुक्रवार को भेजे जवाबी पत्र में इस काम को अंजाम देने पर सहमति जताई गई है

पवनहंस के महाप्रबंधक वीएच दोडिया ने दिल्ली के पर्यावरण मंत्री इमरान हुसैन के निजी सचिव श्रवण बगड़िया को भेजे पत्र में कहा है कि दिल्ली में हेलिकॉटर द्वारा कृत्रिम बारिश के लिए कार्य योजना बनानी होगी. साथ ही इस काम के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी, नागरिक उड्ययन महानिदेशालय और रक्षा मंत्रालय सहित केंद्र और राज्य सरकार की तमाम एजेंसियों से पूर्व अनुमित लेनी होगी. दिल्ली सरकार के सूत्रों ने बताया कि इसके लिए संयुक्त कार्यदल गठित कर दिया गया है जो इस परियोजना पर शनिवार से काम शुरू कर देगा.

उल्लेखनीय है कि दिल्ली में प्रदूषण के गहराए संकट से निजात दिलाने के लिए केंद्रीय पर्यावरण एवं वन मंत्रालय द्वारा गठित समिति ने अपनी पहली बैठक में ही कृत्रिम बारिश कराने की केजरीवाल सरकार की पहल पर कोई मदद नहीं किए जा सकने की बात कही थी. हुसैन ने हाल ही में डा. हर्षवर्धन को पत्र लिखकर कृत्रिम बारिश कराने के लिए केंद्र सरकार से हेलिकॉप्टर मुहैया कराने में मदद करने का आह्वान किया था.

दिल्ली सरकार ने इस काम पर खर्च होने वाली राशि का वहन राज्य सरकार द्वारा करने की पहल करते हुए केंद्र सरकार से रक्षा मंत्रालय या उड्डयन मंत्रालय से हेलिकॉप्टर मुहैया कराने में मदद की अपील की थी. इसके बाद ही दिल्ली सरकार ने पवन हंस से इस बाबत ही संपर्क किया था. हुसैन ने शुक्रवार शाम ट्वीट कर बताया कि कृत्रिम बारिश कराने के लिए पवनहंस से संपर्क किया गया है जिससे दिल्ली में पानी का छिड़काव कर हवा में जमा पार्टिकुलेट तत्वों को जमीन पर लाया जा सके.

Vigilance
Rate this site