चंडीगढ़-शिमला-चंडीगढ़ उड़ानों के लिए संपर्क नं, शिमला के लिए: डॉ विपुल वैद्य - 7018030880, श्री शिवम गुप्ता - 8368557785, चंडीगढ़ के लिए: सुश्री मोहिता शर्मा - 8283091219, सुश्री आलिया हैदर - 7827509985.   |   पोस्ट धारकों के लिए 25/02/19 को वॉक-इन-इंटरव्यू को स्थगित प्रशिक्षक / सीनियर प्रशिक्षक अंग्रेजी संचार और प्रशिक्षक को अगली सूचना तक रोककर रखा जा सकता है।   |   कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी (सीएसआर) और सतत विकास (एसडी) के तहत प्रस्तावों का निमंत्रण   |   पारदर्शिता लेखापरीक्षा के लिए एक ढांचा     |   स्वच्छता शपथ



मुख्य पृष्ठ >> पारदर्शिता >> नीतियां और दिशा-निर्देश >> संरक्षा नीति



संरक्षा नीति

  1. 1. विमानन संरक्षा

विमानन उद्योग के लिए संरक्षा एक आधारभूत आवश्‍यकता है । प्रारम्‍भ से ही विमानन संरक्षा नामक शब्‍द में उड़न अयोग्‍यता के सिद्धांत, अंवेषण एवं वर्गीकरण की व्‍यापकता तथा ऐसी अयोग्‍यताओं से विनियमन, शिक्षा एवं प्रशिक्षण के माध्‍यम से बचाव के अर्थ समाहित किए गए हैं । प्रत्‍येक विमानन संगठन द्वारा वैश्विक वायु परिवहन समुदाय के साथ निकट सहकारिता से विमानन के क्षेत्र में संरक्षा निष्‍पादन में सुधार के लिए निरंतर प्रयास किए जाते रहे हैं । संरक्षा प्रबंधन प्रणाली (एसएमएस) पर आधारित जोखिम नियंत्रण प्रक्रिया के माध्‍यम से संरक्षा के प्रति एक अग्रसक्रिय पद्धति हाल ही में अपनाई गई है । संरक्षा प्रबंधन प्रणाली (एसएमएस) पर आधारित जोखिम नियंत्रण प्रक्रिया एक ऐसी पद्धति है जिसके द्वारा प्रक्रियाबद्ध रूप से जोखिमों की पहचान की जा सकती है तथा उसके पश्‍चात उनकी स्‍वीकृति, उनमें कमी लाए जाने, अथवा उन्‍हें समाप्‍त किए जाने के बारे में विचार किए जाने के साथ साथ उनके उत्‍पन्‍न होने वाले अभिप्रेत परिणामों का भी सुनिश्‍चय किया जा सकता है । विमानन संरक्षा की तुलना जन परिवहन के माध्‍यम के अन्‍य माध्‍यमों के साथ भी की जा सकती है तथा इसे यात्रा का संरक्षित स्‍वरूप माना गया है ।

  1. 2. पवन हंस लिमिटेड में संरक्षा - एक अग्रदर्शिता

‘’संरक्षा को व्‍यवसाय का प्रयोजन’’ के सिद्धांत पर चलने के प्रति पवन हंस लिमिटेड का विश्‍वास अटूट है । पवन हंस लिमिटेड के प्रमुख आदर्शों में संरक्षा, कार्य परिस्थितियां, आचारपूर्ण व्‍यवहार एवं अपने लोगों के प्रति सम्‍मान को प्रमुख स्‍थान दिया गया है । प्रारम्‍भ से हम प्रचालनों की प्रतिस्‍पर्धा में आगे रहने के लिए संरक्षा को ही प्रमुख स्रोत मानते आए हैं तथा संरक्षा को अपने व्‍यावसायिक क्रियाकलापों का अंग बनाए जाने से ही हमारे व्‍यवसाय की सुदृढ़ता स्‍थापित हुई है । प्रत्‍येक दुर्घटनाओं से महत्‍वपूर्ण संसाधनों की क्षति होती है तथा संरक्षा में उत्‍कृष्‍टता स्‍थापित करके इनसे बचाव किया जा सकता है । विमानन एक वैश्विक उद्योग है तथा विश्‍व भर में प्रचालकों द्वारा अपने उत्‍तम व्‍यवहारों का इसके लिए सहभाजन किया जाता है । पवन हंस का सदैव से संरक्षा में अनवरत सुधार के लिए संरक्षा मामलों पर उत्‍तम वैश्विक प्रचालकों के साथ रणनीतिक गठबंधन स्‍थापित करने का प्रयास रहा है ।

  1. 3. पवन हंस लिमिटेड में संरक्षा - दृष्टिकोण एवं लक्ष्‍य

पवन हंस लिमिटेड में संरक्षा को प्रमुख महत्‍व प्राप्‍त है तथा हमारा दृष्टिकोण ‘’लोगों को विश्‍व श्रेणी की संरक्षित, सुरक्षित, वहनीय, किफायती वायु सेवाएं’’ प्रदान करने के प्रति है । पवन हंस लिमिटेड के संरक्षा लक्ष्‍य निम्‍नलिखित हैं :-

- वायु तथा स्‍थल पर विमानन उद्योग में प्रयोग में लाए जा रहे उत्‍तम व्‍यवहारों से तुलनीय संरक्षा सुधार के लिए अनवरत प्रयास करने का सुनिश्‍चय करना ।

- अनवरत संरक्षा सुधार के लिए हैलीकॉप्‍टर प्रशिक्षण, संरक्षा सेवाएं उपलब्‍ध करवाना एवं अवसंरचना का निर्माण करना ।

पवन हंस लिमिटेड द्वारा संरक्षा मानकों के विकास में सभी कर्मचारियों को प्रतिभागिता के लिए समान अवसर उपलब्‍ध करवाने का सुनिश्‍चय किया जाता है ।

  1. 4. पवन हंस लिमिटेड में संरक्षा - एक संस्‍कृति

संरक्षा संस्‍कृति का विकास एवं अनुरक्षण करने के प्रति पवन हंस लिमिटेड प्रतिबद्ध है जिससे प्रत्‍येक स्‍तर के प्रबंधन, कर्मचारियों की संरक्षा के प्रति प्रतिबद्धता तथा संरक्षित व्‍यवहारों के उत्‍तरदेयता एवं जवाबदेही की स्‍वीकृति का सुनिश्‍चय हो पाता है । पवन हंस लिमिटेड में मुक्‍त संरक्षा सम्‍प्रेषण नीति लागू है तथा इससे प्रत्‍येक के द्वारा संरक्षा निर्णय की प्रक्रिया में योगदान दिया जाता है । कम्‍पनी द्वारा स्‍वीकार्य संरक्षा मानकों के निर्माण एवं अनुरक्षण के लिए आवश्‍यक प्रशिक्षण प्रदान किए जाते हैं । संगठन में संरक्षा संस्‍कृति गैर-दंडात्‍मक है तथा गैर-कानूनी क्रियाकलापों अथवा प्रक्रियाओं की सकल अथवा जानबूझकर किए गए उल्‍लंघनों के अलावा जोखिमों /स्‍वैच्छिक रिपोर्टों / वास्‍तविक चूकों के प्रकटीकरण के लिए कोई कार्रवाई नहीं की जाती है ।

  1. 5. पवन हंस लिमिटेड में संरक्षा - एक प्रतिबद्धता

पवन हंस लिमिटेड में संरक्षा एक प्रकार से जन, सम्‍पति अथवा पर्यावरण के प्रति किसी प्रकार की क्षति न होने के प्रति की गई प्रतिबद्धता है । पवन हंस लिमिटेड द्वारा संरक्षा मामलों पर अपने ग्राहकों एवं जनता के प्रति की प्रतिबद्धता का अनुसरण ‘’पूर्ण असहिष्‍णुता’’ के साथ किया जाता है । इस प्रतिबद्धता को संरक्षा प्रकाशनों तथा हमारे संरक्षा स्‍लोगन ‘’फ्लाई सेफ’’ के माध्‍यम से प्रोत्‍साहन प्राप्‍त होता है ।

कम्‍पनी द्वारा संरक्षा लक्ष्‍य परिभाषित किए गए हैं तथा इन लक्ष्‍यों का ज्ञान एवं स्‍वीकृति प्रत्‍येक के द्वारा किए जाने का सुनिश्‍चय किया जाता है । संरक्षा निष्‍पादन हमारे निष्‍पादन मूल्‍यांकन का एक महत्‍वपूर्ण अंग है । कम्‍पनी संरक्षित एवं कुशल हैलीकॉप्‍टर सेवाएं एवं अन्‍य विमानन समर्थन सेवाएं प्रदान करने के प्रति प्रतिबद्ध है ।

पवन हंस लिमिटेड द्वारा मानव घटकों से संबंधित जोखिमों की सूचना एकत्र करने के लिए स्‍वैच्छिक संरक्षा रिपोर्टिंग प्रणाली को अंगीकार किया गया है । संरक्षा जोखिम, घटित होने से संबंधित जानकारी किसी भी कर्मचारी अथवा ग्राहक अथवा जनता द्वारा कम्‍पनी के प्रबंधन को दी जा सकती है ।

कम्‍पनी द्वारा जोखिम संज्ञान, जोखिम मूल्‍यांकन तथा जोखिम से प्रचालनों के स्‍वीकार्य स्‍तर तक बचाव के लिए संरक्षा प्रबंधन प्रणाली अंगीकार की गई है । पवन हंस लिमिटेड द्वारा संरक्षा आश्‍वासन का सुनिश्‍चय नियमित आंतरिक ऑडिट, निगरानी एवं प्रचालनात्‍मक बेस पर औचक जांच करके किया जाता है ।

संरक्षा प्रशिक्षण हमारी संरक्षा प्रबंधन प्रणाली का आधारभूत अंग है । कम्‍पनी के प्रत्‍येक कर्मचारी को संरक्षा में उसकी भूमिकाओं, उत्‍तरदायित्‍वों एवं जवाबदेही के अनुसार प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है ।

अधिक जानकारी के लिए, कृपया संपर्क करें

श्री राकेश कुमार (आईटीएस)
मुख्य सतर्कता अधिकारी
फ़ोन: 0120-2476712
फ़ैक्स:
ईमेल: cvo[at]pawanhans[dot]co[dot]in
Vigilance
Rate this site